Russia-Ukraine crisis:जानिए रूसी हमले के बाद वैश्विक शेयर बाजार का क्या हाल है

safalta experts Published by: Chanchal Singh Updated Thu, 24 Feb 2022 04:59 PM IST

Highlights

  • सबसे अधिक नुकसान झेलने वाले शेयरों में Airtel, IndusInd Bank, Tech Mahindra और SBI शामिल थे
  • जापान का निक्केई
  • साउथ कोरिया के कॉस्पी
  • शंघाई कॉम्पोजिट इंडेक्स

Russia-Ukraine crisis: यूक्रेन और रसिया के बीच युद्ध घोषणा के बाद वैश्विक शेयर बाजार में हुआ बड़ा नुकसान। रसिया के यूक्रेन में सैन्य अभियान शुरू करने की घोषणा के बाद वैश्विक शेयर बाजारों में भारी विक्रय का असर देखा गया है। दोनों ही बेंचमार्क इंडेक्स में भारी गिरावट देखी गई। इस युद्ध घोषणा के बाद शेयर मार्केट व्यापारियों को बहुत नुकसान झेलना पड़ा है। General Knowledge Ebook Free PDF: डाउनलोड करें  युद्ध के घोषणा के बाद से ही स्टॉक मार्केट तेजी से गिर रहे हैं। रसिया के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन में सैन्य कार्रवाई करने के घोषणा के बाद से ही यूक्रेन में रसिया का  हमला प्रारंभ हो गया है।

Source: Safalta

 इस युद्ध के चलते शेयर मार्केट काफी तेजी से लुढ़के हैं। आज के शुरुआती कारोबार में बीएसई सेंसेक्स में 2,000 से ज्यादा अंकों की गिरावट देखी गई है। 
 

सेंसेक्स और निफ्टी के अंक का क्या हाल है

सुबह 9.50 बजे सेंसेक्स में 2,006.71 अंक या 3.51% की गिरावट दर्ज की गई थी और इंडेक्स गिरकर 55,225.35 के लेवल पर आ गया। वहीं, निफ्टी भी 572.05 अंकों या 3.35% की गिरावट लेकर 16,491.20 के लेवल पर चला गया है।

Free Demo Classes

Register here for Free Demo Classes

Please fill the name
Please enter only 10 digit mobile number
Please select course
Please fill the email
Something went wrong!
Download App & Start Learning
बता दें कि शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 1,461 अंक टूटकर 55,770 पर आया था, वहीं, निफ्टी 430 अंक फिसलकर 16,633 पर आया। लेकिन रूसी हमले की खबर के चलते इनवेस्टर्स सतर्क हो गए जिसके बाद शेयर बाजार ने तेज गिरावट दर्ज की। आज शेयर मार्केट पूरी तरह ढप रहा। 
 

किस कंपनी को उठाना पड़ा भारी नुकसान

 कारोबार के शरुआत में सेंसेक्स के सभी शेयर भारी नुकसान के साथ कारोबार कर रहे थे। लेकिन सबसे अधिक नुकसान झेलने वाले शेयरों में Airtel, IndusInd Bank, Tech Mahindra and SBI शामिल थे
 

विदेशी कंपनियों ने भी झेला नुकसान 

एशियाई बाजारों में जबरदस्त गिरावट देखी गई है, इसके साथ ही जापान का निक्केई 2.17 % गिर गया। वहीं साउथ कोरिया के कॉस्पी ने सुबह 2.66 % की गिरावट दर्ज की है। शंघाई कॉम्पोजिट इंडेक्स ने भी 0.89 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की है।
 

विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बेचे करोड़ों रुपये के शेयर।

यूक्रेन-रूस संकट को देखते हुए ब्रेंट क्रूड तेल ने 8 साल में पहली बार बढ़कर 100 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल हो गया। शेयर बाजार के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को 3,417.16 करोड़ रुपये के शेयर बेचे।

बुधवार को शेयर बाजार के क्या हाल थे।

अगर पिछले कारोबारी सत्र को देखें तो घरेलू शेयर बाजारों में गिरावट बुधवार को लगातार छठे कारोबारी सत्र में भी जारी रही और बीएसई सेंसेक्स 68.62 अंक नीचे आ गया। क्लोजिंग में सेंसेक्स 68.62 अंक यानी 0.12 प्रतिशत की गिरावट के साथ 57,232.06 अंक पर बंद हुआ और निफ्टी 28.95 अंक यानी 0.12 प्रतिशत टूटकर 17,063.25 अंक पर आ गया।Current Affairs Ebook Free PDF: डाउनलोड करे
 

Free E Books